चाणक्य नीति

कुत्ते के यह 4 गुण जो मनुष्य को सीखने चाहिए चाणक्य नीति!

कुत्ते के यह 4 गुण जो मनुष्य को सीखने चाहिए
कुत्ते के यह 4 गुण जो मनुष्य को सीखने चाहिए
Written by Rohit bhatt

चाणक्य नीति- आचार्य चाणक्य एक महान ज्ञानी के साथ-साथ एक अच्छे नीतिकार भी थे। उन्होंने अपनी नीतियों में बहुत ही महत्वपूर्ण बातें बताई हैं। जो भी मनुष्य इन नीतियों का पालन करता है वह संसार की कठिन से कठिन परिस्थितियों का सामना कर सकता है ।

कुत्ते के यह 4 गुण जो मनुष्य को सीखने चाहिए

कुत्ते के यह 4 गुण जो मनुष्य को सीखने चाहिए

आज मैं आपको आचार्य चाणक्य की बताए हुए कुत्ते के उन 4 गुणों का वर्णन करने जा रहा हूं जिन्हें मनुष्य को आचरण में लाना चाहिए।

कुत्ते के यह 4 गुण जो मनुष्य को सीखने चाहिए |चाणक्य नीति

पहला है थोड़े में ही संतोष कर लेना। कुत्ता एक बुद्धिमान प्राणी है और उसमें संतोष का यह गुण बहुत ही महत्वपूर्ण होता है । कुत्ता कितना भी भूखा होने के बावजूद जितना भी अन्न मिलता है उसी में संतोष मान लेता है । मनुष्य को यह बात कुत्ते से सीख लेनी चाहिए। मनुष्य को जितना परिश्रम करके फल मिलता है उससे ही संतुष्ट हो जाना चाहिए ना की अधिक प्राप्त करने के लिए दुष्ट कर्म करने चाहिए। ऐसा करने वाला मनुष्य बुरे कर्म करने लगता है और एक न एक दिन फस जाता है और कष्ट भुगतता है।

दूसरा गुण है सतर्क रहना। आचार्य चाणक्य कहते हैं कुत्ता कितनी भी गहरी नींद में हो वह हमेशा ही सतर्क रहता है। उसे थोड़ी सी भी आवाज आ जाए तो वह तुरंत जाग जाता है। मनुष्य को यह बात कुत्ते से सीख लेनी चाहिए। जीवन में हमेशा सतर्क रहने वाला मनुष्य कभी भी धोखा नहीं खाता है और जीवन में हमेशा ही सफल होता है। किसी और के भरोसे पर सब कुछ छोड़कर गहरी नींद में सो जाना नहीं चाहिए । मनुष्य को नींद में रहते हुए भी सतर्क रहना चाहिए ।

तीसरा गुण हैं स्वामी भक्ति। कुत्ता एक वफादार प्राणी है यह सभी जानते हैं । चाणक्य कहते हैं हमें जिस भी व्यक्ति के लिए काम करने के पश्चात धन प्राप्त होता है उसे कभी भी धोखा नहीं देना चाहिए। हमें उसके लिए पूरी निष्ठा के साथ काम करना चाहिए । धोखा करने वाले मनुष्य को जीवन में कभी भी सम्मान नहीं मिलता है। उसको समाज में एक तुच्छ मनुष्य की तरह समझा जाता है और जो कोई भी किसी के साथ धोखा करता है तो उसके ऊपर बाद में कोई भी विश्वास नहीं करता है ।

चौथा है वीरता । कुत्ते को वीरता की पदवी दी गई है जो अपने स्वामी के लिए दुश्मनों पर हमला कर देता है और अपनी वीरता का प्रदर्शन करता है। हमें यह बात कुत्ते से सीख लेनी चाहिए। किसी भी मनुष्य को परिवार पे संकट आने पर एक वीर की भांति सबसे आगे खड़ा होना चाहिए ना की किसी कायर की तरह पीछे छुप जाना चाहिए।

About the author

Rohit bhatt

My Name Is Rohit Bhatt. I am a Blogger, Youtuber And Entrepreneur. I am From Dungarpur (Raj.). I Am writes My Special Entrepreneur Tips, Relationship Tips, Health Tips, Tips And Tricks On Wikiment.

Leave a Comment

CommentLuv badge

5 Comments

%d bloggers like this: